MP Weather: भोपाल में गर्मी ने तोड़ा रिकॉर्ड, दोपहर से पहले ही पारा पहुंचा 41 डिग्री पार

By Vikash Pandit

Published on:

Follow Us
MP Weather

MP Weather: भोपाल में गर्मी ने तोड़ा रिकॉर्ड, दोपहर से पहले ही पारा पहुंचा 41 डिग्री पार

MP Weather

मध्य प्रदेश में राजस्थान और गुजरात से आ रही गर्म हवाओं से भारी गर्मी जारी है। रविवार, 25 जून से दो जून तक चलने वाले नौतपा के दूसरे दिन, सुबह से ही धूप पड़ने लगी। सुबह 11:30 बजे भोपाल में पारा 41.6 डिग्री सेल्सियस हो गया था। लू खंडवा, खरगोन, रतलाम, राजगढ़ और भोपाल में भी हो सकता है। शनिवार को नौतपा के पहले दिन भोपाल में दिन का तापमान 42.9 डिग्री था, जो पिछले दिन से 0.8 डिग्री कम था, लेकिन सामान्य से 1.7 डिग्री अधिक था।

रविवार को भोपाल में न्यूनतम तापमान 29.4 डिग्री सेल्सियस था, जो सामान्य से 1.8 डिग्री अधिक था। विशेष रूप से, भोपाल में पिछले एक हफ्ते से दिन का पारा 41 डिग्री से अधिक रहा है। गुरुवार सीजन का सबसे गर्म दिन था, जब पारा 44.4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था। गुरुवार से शुक्रवार की दरमियानी रात सबसे गर्म रही, जिसमें न्यूनतम तापमान 31.2 डिग्री सेल्सियस रहा। इस भयंकर गर्मी के दौर में दिन और रात का पारा लगातार सामान्य से अधिक है।

राज्य का अधिकांश हिस्सा तप रहा है

वहीं, राज्य के ज्यादातर हिस्सों में भीषण गर्मी है। शनिवार को सर्वाधिक तापमान वाले चार जिलों राजगढ़, खंडवा, खरगोन और रतलाम में 45 डिग्री से अधिक का तापमान हुआ। शनिवार को राज्य मौसम केंद्र ने 32 जिलों में लू चलने का आरेंज और यलो अलर्ट जारी किया। हवाओं का रुख रेमल के प्रभाव से ऊपर के स्तर पर पूर्वी होने लगा है, मौसम विज्ञानियों का कहना है। पूर्वी मध्य प्रदेश को भारी गर्मी से कुछ राहत मिली है। रविवार को राज्य के कई शहरों में अधिकतम 41 से 46 डिग्री सेल्सियस का तापमान रहने का अनुमान है।

इन क्षेत्रों में वेदर प्रणाली काम कर रही है

मौसम विज्ञान केंद्र ने बताया कि पाकिस्तान के आसपास एक पश्चिमी विक्षोभ द्रोणिका बन गया है। दक्षिण-पूर्वी राजस्थान हवा के ऊपरी हिस्से में एक चक्रवात है। उत्तर प्रदेश भी हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात का शिकार हो गया है।

गुजरात और राजस्थान में भारी गर्मी हो रही है, मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया। मध्य प्रदेश में लगातार गर्म हवाओं के कारण भयंकर गर्मी है। कुछ शहर लू से प्रभावित हैं। इस तरह की हालत अभी दो-तीन दिन तक बनी रह सकती है। उधर, बंगाल की खाड़ी में उठा तूफान रेमल सुमुद्र के माध्यम से उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ता है। रेमल रविवार और सोमवार की दरमियानी रात को गंगासागर और बांग्लादेश के बीच टकरा सकता है।

MP Weather
MP Weather

Leave a Comment